झारखंड मिलेट मिशन योजना 2024

झारखंड मिलेट मिशन योजना 2024 | किसानो को मिलेगी ₹15000 की सब्सिडी जाने सम्पूर्ण जानकारी

झारखंड मिलेट मिशन योजना 2024 : झारखंड सरकार ने किसानों की मदद करने के लिए एक नई योजना शुरू की है, जिसे “झारखंड मिलेट मिशन योजना” कहते हैं। इस योजना के तहत, किसानों को अनाज की खेती करने के लिए आर्थिक सहायता दी जा रही है। किसान भाई-बहन इस योजना के जरिए सरकार से ₹15000 रुपए तक ले सकते हैं। ये पैसा उन्हें अनाज की खेती के खर्च को पूरा करने में मदद करेगा, जिससे उनकी आय भी बढ़ेगी। झारखंड के किसान इस योजना का लाभ उठाकर अपनी खेती को और बेहतर बना सकते हैं।

झारखंड सरकार ने इस साल 2024-25 में राज्य के किसानों के लिए झारखंड मिलेट मिशन योजना” शुरू की है। यह योजना उन किसानों को ₹15000 रुपए की मदद देगी जो अनाज की खेती करते हैं। इस योजना का फायदा उठाने के लिए 5 एकड़ जमीन होने चाहिए और 30 अगस्त से पहले आवेदन करना होगा। यह योजना झारखंड सरकार का एक प्रयास है जिससे किसानों को आर्थिक मदद मिले और वो अपनी खेती को और बेहतर बना सकें। भारत में आज भी 60% लोग खेती करते हैं, इसलिए सरकारें किसानों के लिए ऐसी योजनाएं लाती रहती हैं ताकि उनकी मदद की जा सके। हम इस योजना के बारे में और जानकारी आपको आगे देंगे, साथ ही बताएंगे कि आवेदन कैसे करना है।

झारखंड मिलेट मिशन योजना 2024

झारखंड सरकार ने किसानों की मदद के लिए झारखंड मिलेट मिशन योजना” शुरू की है। यह योजना अगले साल शुरू हुई है और अगले पांच सालों (2023-24 से 2027-28 तक) तक चलेगी। इस योजना से 24 जिलों के किसानों को फायदा होगा। झारखंड में खेती बहुत महत्वपूर्ण है और इस योजना से किसानों को आर्थिक मदद मिल पाएगी। इस योजना का खास उद्देश्य रागी, लाछमी (मंडुआ), बाजरा, कलमी, कोदो, और जंगोरा जैसे अनाजों की खेती को बढ़ावा देना है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए 30 अगस्त से पहले आवेदन करना होगा।

झारखंड मिलेट मिशन योजना का उदेश्य

झारखंड सरकार ने पिछले साल गरीब किसानों की मदद के लिए एक योजना शुरू की थी। किसानों को पानी की कमी और बदलते मौसम की वजह से बहुत नुकसान उठाना पड़ता है, तो इस योजना से उनकी मदद की जा रही है। इस योजना के तहत, सरकार किसानों को ₹3000 से ₹15000 तक देती है ताकि वे रागी, लाछमी (मंडुआ), बाजरा, कलमी, कोदो, और जंगोरा जैसे मोटे अनाजों की खेती कर सकें। इस योजना से किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और वे अपनी खेती को बेहतर बना पाएंगे।

यह भी पढ़े : Ladli Behna Yojana 3rd Round 2024

कितना लाभ मिलेगा ?

झारखंड सरकार ने “झारखंड मिलेट मिशन योजना” शुरू की है जो अगले पांच साल (2023-24 से 2027-28 तक) चलेगी। इस योजना का फायदा राज्य के 24 जिलों के किसानों को मिलेगा। इस योजना के तहत, किसानों को मोटे अनाज जैसे रागी, लाछमी (मंडुआ), बाजरा, कलमी, कोदो, और जंगोरा की खेती करने के लिए आर्थिक मदद दी जाएगी। किसानों को उनकी जमीन के आकार के हिसाब से ₹3000 से ₹15000 तक दिए जाएँगे।

जिन किसानों के पास 10 डिसमिल से 5 एकड़ तक जमीन है, उन्हें यह मदद मिलेगी। एक एकड़ जमीन वाले किसानों को ₹3000 और पांच एकड़ जमीन वाले किसानों को ₹15000 तक दिए जाएँगे। अगर आप झारखंड किसान कर्ज माफी योजना 2024 के बारे में जानना चाहते हैं, तो हमारे दूसरे लेख को पढ़ सकते हैं।

झारखंड मिलेट मिशन योजना का लाभ और विशेषताए

झारखंड सरकार हमेशा से किसानों की मदद के लिए योजनाएँ बनाती रही है। ऐसी ही एक योजना है “झारखंड मिलेट मिशन योजना” जो 2023-24 से 2027-28 तक चलेगी। इस योजना के तहत, किसानों को रागी, लाछमी (मंडुआ), बाजरा, कलमी, कोदो, और जंगोरा जैसी फसलों की खेती करने के लिए ₹3000 से ₹15000 तक दिए जाएँगे। यह योजना 24 जिलों में लागू होगी और 30 अगस्त तक आवेदन किया जा सकता है।

एक एकड़ जमीन वाले किसानों को ₹3000 और पांच एकड़ जमीन वाले किसानों को ₹15000 तक मिलेंगे। इसके अलावा, सरकार स्व-सहायता समूहों (SHG), किसान उत्पादक संगठनों (FPO), सहकारी समितियों और कृषि विज्ञान केंद्रों (KVKs) को मिलेट बीज बैंक स्थापित करने के लिए मदद दे रही है। जो किसान मिलेट उत्पादन में बेहतर काम करते हैं, उन्हें नकद पुरस्कार भी दिए जाएँगे। इस योजना का मकसद किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करना और मोटे अनाजों की खेती को बढ़ावा देना है।

झारखंड मिलेट मिशन योजना के लिए पात्रता

झारखंड के किसान भाई-बहन, अगर आप झारखंड के मूल निवासी हैं और आपकी खेती में 10 डिसमिल से 5 एकड़ तक जमीन है तो आप “झारखंड मिलेट मिशन योजना” के लिए आवेदन कर सकते हैं! यह योजना अनुदान रैयत और बटाईदार दोनों तरह के किसानों के लिए है। इस योजना से रागी, लाछमी (मंडुआ), बाजरा, कलमी, कोदो, और जंगोरा जैसे मोटे अनाज की खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। एक एकड़ जमीन वाले किसानों को ₹3000 और पाँच एकड़ जमीन वाले किसानों को ₹15000 तक दिए जाएँगे। इस योजना का लाभ उठाने के लिए 30 अगस्त से पहले आवेदन करना होगा।

झारखंड मिलेट मिशन योजना के लिए दस्तावेज

  • आवेदक का आधारकार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक पासबुक की कॉपी
  • जमीन के सभी दस्तावेज

झारखंड मिलेट मिशन योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया

झारखंड के किसान “झारखंड मिलेट मिशन योजना” का लाभ लेने के लिए प्रज्ञा केंद्रों की मदद से आसानी से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। अगर आप पहले से ही किसी योजना का लाभ उठा रहे हैं, तो आपको दोबारा पंजीकरण करने की ज़रूरत नहीं है, लेकिन मिलेट मिशन योजना के लिए आवेदन करना ज़रूरी है। आप 30 अगस्त 2024 से पहले आवेदन कर सकते हैं। अगर आपको कोई जानकारी चाहिए या मदद की ज़रूरत हो, तो आप अपने प्रखंड विकास अधिकारी, प्रखंड कृषि पदाधिकारी, प्रखंड तकनीकी प्रबंधक या सहायक तकनीकी प्रबंधक से संपर्क कर सकते हैं। इस योजना से झारखंड के किसानों को अपनी खेती को और अधिक लाभदायक बनाने में मदद मिलेगी।

निष्कर्ष

दोस्तों, इस लेख में हमने झारखंड मिलेट मिशन योजना के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। इसमें हमने योजना का उद्देश्य, पात्रता, लाभ और विशेषताएं, और आवेदन प्रक्रिया के बारे में बताया है। उम्मीद है कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा होगा। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि वे भी इसका फायदा उठा सकें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top